Hit enter after type your search item

डाबर अश्वगंधा चूर्ण के फायदे

/
/
/
7 Views
  • हिंदी में नाम: अश्वगंध
  • संस्कृत में नाम: अश्वगंधा
  • अंग्रेजी में नाम: विंटर चेरी
  • लैटिन नाम: विथानिया सोम्निफेरा डुनल पेनेल

भारत के गर्म एरिया में पाए जाने वाले सफेद फूलों और नारंगी लाल बेरी के साथ यह छोटा सा बारहमासी झाड़ी जैसा पौधा होता है। इसकी खेती मध्य और पश्चिमी भारत में काफी बड़े पैमाने पर इसकी खेती की जाती है। जड़ों का इस्तेमाल आयुर्वेदिक मूल के विभिन्न योगों की तैयारी में किया जाता है।

अश्वगंधा के लाभ और उपयोग

आइए डाबर अश्वगंधा चूर्ण के फायदे बारे में जानते हैं। सर्दी में पाई जाने वाली चेरी की जड़ें आयुर्वेद में मस्तिष्क और तंत्रिका तंत्र के लिए बहुत अधिक प्रभावशाली टॉनिक माना गया हैं। क्लिनिकल और प्रैक्टिकल दोनों तरह की विस्तृत जांच में पाया गया कि अश्वगंधा एक एंटीस्ट्रेस और एडाप्टोजेनिक जड़ी बूटी के रूप में भी काम करता है। अश्वगंधा के नियमित इस्तेमाल से तनाव को सहने की क्षमता में बहुत अधिक सुधार होता है, जिससे मानसिक क्षमताओं में काफी अधिक वृद्धि होती है। यह प्रतिरक्षा कार्यों की गुणवत्ता में भी सुधार के लिए जाना जाता है।

 इन चीजों के उपयोगों के आधार पर इसे आप अक्सर “भारतीय जिनसेंग” भी कह सकते है।

  • डिप्रेशन से लड़ने में मदद करता है अश्वगंधा

डाबर अश्वगंधा चूर्ण के फायदे की बात करें तो यह अश्वगंधा अवसाद के स्तर को कम करने में बहुत अधिक उपयोगी साबित हो सकता है और आपको डिप्रेशन से छुटकारा दिलवा सकता है।

  • स्तंभन दोष का इलाज करता अश्वगंधा

अश्वगंधा पुरुषों में कामेच्छा बढ़ाने के लिए एक अच्छा उपाय है और यह स्तंभन दोष (ईडी) के लिए दवा के निर्माण में भी इस्तेमाल किया जा सकता है।

  • मांसपेशियों को बढ़ाता है अश्वगंधा

अश्वगंधा को मांसपेशियों, शरीर की संरचना और समग्र शक्ति में सुधार के लिए बहुत उपयोगी माना गया है। कई रिसर्च में इसके बेहद सकारात्मक परिणाम मिले है।

  • पुरुषों में प्रजनन क्षमता बढ़ाएं अश्वगंधा

अश्वगंधा के उपयोग से शुक्राणुओं की संख्या और गतिशीलता को बढ़ाया जा सकता है। यह टेस्टोस्टेरोन के स्तर को भी बढ़ाने में बहुत अधिक मदद करता है और पुरुषों में शुक्राणु की गुणवत्ता और प्रजनन क्षमता को भू महत्वपूर्ण रूप से बढ़ाता है।

  • मधुमेह को नियंत्रित करता है अश्वगंधा

डाबर अश्वगंधा चूर्ण के फायदे में से एक है मधुमेह को नियंत्रित करना है। अश्वगंधा का मुख्य प्रभाव यह है कि यह अग्न्याशय को इंसुलिन स्रावित करने के लिए बहुत अधिक उत्तेजित करता है जो कि ब्लड शुगर के स्तर को कम करने में भी मदद करता है और इसलिए यह मधुमेह को नियंत्रित करता है।

  • याददाश्त को बढ़ाता है अश्वगंधा

डाबर अश्वगंधा चूर्ण के फायदे में मुख्य यह कि अश्वगंधा की खुराक मस्तिष्क में स्मृति और प्रतिक्रिया के समय में भी सुधार कर सकती है और याददाश्त को बढ़ाने का काम करती है।

  • तनाव और चिंता को कम करने में मदद करता है अश्वगंधा

अश्वगंधा तनाव और चिंता को कम करने के लिए वैज्ञानिक रूप से भी प्रमाणित हो चुका है। विथानिया सोम्निफेरा कोर्टिसोल को कम करने में भी ये मदद करता है जिससे टेंशन से जुड़े हार्मोन के रूप में भी ये जाना जाता है जोकि तनाव की वजह से ही अधिवृक्क ग्रंथियों द्वारा जारी किया जाता है।

  • रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है अश्वगंधा

डाबर अश्वगंधा चूर्ण के फायदे में मुख्य यह है कि इसका सेवन रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ावा देने में मदद करता है। विथानिया सोम्निफेरा व्हाइट ब्लड सेल्स और लाल रक्त कोशिकाओं की कोशिकाओं को बेहतर बनाने में भी मदद करता है।

  • जीवाणुरोधी गुण पाए जाते हैं अश्वगंधा में

रिसर्च अध्ययन में अश्वगंधा में जीवाणुरोधी गुण साबित हुआ हैं। विथानिया सोम्निफेरा बैक्टीरिया के संक्रमण को रोकने में भी मदद करता है और आपको संक्रमण से मुक्त रखता है।

  • कोलेस्ट्रॉल कम करता है अश्वगंधा

अश्वगंधा के स्वास्थ्य लाभों की बात करें तो यह कोलेस्ट्रॉल को कम करके हृदय स्वास्थ्य में सुधार करता है।

  • थायराइड फंक्शन को बढ़ाने का काम करता है अश्वगंधा

अश्वगंधा बहुत कम थायराइड वाले लोगों को भी लाभ पहुंचाताहै और उन्हें स्वास्थ्य रखता है क्योंकि जानवरों पर किए गए अध्ययन से पता चलता है कि यह थायराइड हार्मोन का संतुलन बनाए रखने में मदद करता है। विथानिया सोम्निफेरा जड़ का अर्क अगर रोज खाया जाए तो यह थायराइड हार्मोन के स्राव को भी बढ़ा सकता है।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This div height required for enabling the sticky sidebar